आरबीआई का नोटिस, 4% बजाज फाइनेंस के शेयर गिरे, जाने क्या है मोती ओसवाल की राय?; Bajaj Finance News

Bajaj Finance News: भारतीय रिजर्व बैंक ने बजाज फाइनेंस के दो प्रोडक्ट के तहत उधार देने से मना कर दिया है जिसके बाद उनके शेयर में लगभग 4% की गिरावट आई है और यह गिरावट अभी भी जरी है इस पर ब्रोक्रज फर्म मोती लाल ओसवाल का क्या कहना है वो समझते है।

क्या है बजाज फाइनेंस को आरबीआई का नोटिस?

Kya hai Bajaj Finance ko rbi ka notis?

Bajaj Finance News; आपकी जानकारी लिए बता दे कि भारतीय रिजर्व बैंक ने बजाज फाइनेंस(Bajaj Finance) को उसके दो प्रोडक्ट पहले प्रोडक्ट है ई काम दूसरा है इंस्टा ईएमआई कार्ड से लोन देने और डिस्बर्सल करने के लिए बिल्कुल तत्काल रूप से मना कर दिया है इसके बाद बजाज फाइनेंस के शेयर में गिरावट देखी गई बजाज में यह रोक इसलिए की गई है क्योंकि बजाज फाइनेंस ने भारतीय रिजर्व बैंक को आवश्यक दस्तावेज सही तरीके से नहीं दे पा रही थी आरबीआई ने यह फैसला उधारकर्ताओं कि हित की रक्षा के लिए किया है ताकि उन्हें आगे चलकर कोई दिक्कत ना हो।

“बजाज फाइनेंस के प्रोडक्ट में उधारकर्ताओं को की फैक्ट स्टेटमेंट (KFS) जारी नहीं करने और कंपनी द्वारा एक्सेप्ट किए गए डिजिटल लोन के लिए जारी किए गए की फैक्ट स्टेटमेंट (KFS) में कमियां देखी गई जिसके तहत यह फैसला भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा लिया गया है”

Bajaj Finance News

कब तक रह सकती है बजाज फाइनेंस पर RBI की रोक?

Kab tak rah sakti hai Bajaj Finance par rbi ki rok?

आगे आरबीआई ने कहा है कि जब तक की बजाज फाइनेंस आरबीआई की मानकों के तहत यानी आरबीआई के अनुसार Key Fact Statement जारी करना शुरू नहीं करेगी तब तक की यह जो रोक लगाई गई है दोनों प्रोडक्ट  ई काम और इंस्टा ई एम आई कार्ड में वह तब तक कि नहीं हटेगी।

RBI की नोटिस पर बजाज फाइनेंस का क्या कहना है?

RBI ki notis par Bajaj Finance ka kya manna hai?

Bajaj Finance News; बजाज फाइनेंस का कहना है कि उसने की फैक्ट स्टेटमेंट जो उसके दोनों प्रोडक्ट है आई कम और इंस्टा एमी कार्ड उधर कर्ताओं को आरबीआई की गाइडलाइन के अनुसार ही जारी किए गए थे लेकिन फिर भी वह इसकी गहराई और डिटेल्स के साथ समीक्षा करेंगे और जो भी उनको सुधार उनको दिखेंगे आरबीआई की संतुष्टि के लिए वह से जल्द से जल्द पूरा करेंगे।

RBI की नोटिस पर विशेषज्ञ की राय? ; Bajaj Finance News

RBI ki notis par expert ki raay?

Bajaj Finance News
Bajaj Finance News

Bajaj Finance News; हालांकि विशेषज्ञ का मानना है की आरबीआई का फैसला कोई ज्यादा प्रभावित नहीं है क्योंकि बजाज फाइनेंस के जो यह दो प्रोडक्ट है  इंस्टा ई एम आई कार्ड और ईकॉम यह केवल कुल ग्राहक का 5% है हालांकि का उनका ये भी मानना यह कोई बहुत बड़ा इशू नहीं है लेकिन फिर भी कुछ समय तक  बजाज फाइनेंस के शेयर में इसका प्रभाव देखा जा सकता है लेकिन आने वाले समय में जल्दी इसका सॉल्यूशन हो जाएगा।

RBI की नोटिस पर बजाज फाइनेंस की फाइनेंसियल में क्या फर्क पड़ेगा?

RBI ki notis par Bajaj Finance ki financial par kya fark padega?

कंपनी का कहना है कि आरबीआई के इस कार्यवाही के दौरान उसे कोई फाइनेंशियल इफेक्ट देखने को नहीं मिलेगा। अमेजॉन, फ्लिपकार्ट, यात्रा, मेक माय ट्रिप,जैसे ऑनलाइन प्लेटफार्म पर बजाज द्वारा किए गए ईकॉम लोडिंग को फिलहाल अभी के लिए बंद कर दिया जाएगा और आगे कहा गया एनबीएफसी अपने मौजूदा ईएम्आई  कार्ड ग्राहकों को ई-कॉमर्स प्लेटफार्म के माध्यम से उनकी खरीदारी के लिए सर्विसेज प्रदान करेगा।

कैंडलस्टिक चार्ट पैटर्न पीडीऍफ़ हिंदी (Candle Stick Chart Pattern pdf) HIndi

बजाज फाइनेंस को RBI की नोटिस पर मोती लाल ओसवाल का क्या मानना है?

Bajaj Finance ko RBI ki notis par moti lal oswal ka kya manna hai?

Bajaj Finance News: मोतीलाल ओसवाल का यह मानना है कि आरबीआई का फैसला उस समय आया है जब जो बड़े त्यौहार थे वह जा चुके हैं जिससे बजाज फाइनेंस के उधर वितरण में खास फर्क नहीं देखा जाएगा आगे उन्होंने कहा बजाज फाइनेंस महीने में लगभग 3.50 लाख से 4 लाख लोगो तक का कर्ज देता है क्योंकि त्यौहार जा चुका है तो यह मान सकते हैं कि लगभग 220000 से 230000 के आसपास इसका वॉल्यूम रहने वाला था जो की 40 से 90 दिनों तक बजाज फाइनेंस उसका फायदा नहीं ले पाएगा तो देखा जाए बजाज फाइनेंस को ई-कॉमर्स के तहत लगभग 345000 से 690000, मोटा मोटी माने तो लगभग 700000 लाख वैल्यूम का नुकसान हो सकता है।

अगर मोती लाल ओसवाल की बात को ध्यान दे तो ब्रोकरेज का मानना है कि तकनीकी रूप से इंस्टा एमी कार्ड जारी करने पर कोई भी प्रतिबंध नहीं लगा है लेकिन फिर भी इंस्टा एमी कार्ड पर जो लोन दिया जाता था उसे पर थोड़ा दिन 40 से 50 दोनों का प्रतिबंध लगा है और जो नए इंसान में कार्ड है उसको जारी करने के लिए रोका जा सकता है।

अब बात करें ई काम प्लेटफार्म पर तो लगभग 220000 से 230000 का वॉल्यूम रहता है और इंस्टा एमी कार्ड के माध्यम से लगभग 110000 से 120000 तक महीने का B2B उधारकर्ता को उधार देता है ब्रोकरेज हाउस का मानना है कि बजाज फाइनेंस को लगभग 45 दिन तक लगभग 4 लाख 50000 का जो वॉल्यूम है उसे समझौता करना पड़ सकता है और यदि यह 90 दिनों तक रहता है तो लगभग 9 लाख वॉल्यूम तक समझौता करना पड़ सकता है एक बार मान लेते हैं कि

यदि एक टिकट का औसत आकार 30000 से 40000 है तो बजाज फाइनेंस को आने वाले समय में 40 से 90 दिनों के प्रतिबंध के कारण 13.6 बिलियन से 45 बिलियन के बीच उधर वितरण पर प्रभाव देखने को मिल सकता है।

देखा जाए तो मोतीलाल ओसवाल ने  इस पर कोई भी नेगेटिव इंपैक्ट नहीं बता रहे हैं हां हालाकि यह जरूर मानते हैं कि बजाज फाइनेंस के सितंबर 2023 तक के AUM के  0.5%  से 1.6% तक वितरण में गिरावट यानी कमी जरूर आ सकती है और यह भी स्वीकार करते है कि जो क्वार्टर थ्री है उसके जो फाइनेंशियल रिजल्ट होंगे उसमें AUM वृद्धि और नेट इनकम में भी प्रभाव देखने को जरूर मिलेगा।

Official Website; https://www.bajajfinserv.in/

बजाज फाइनेंस पर मोती लाल ओसवाल क्यों है पॉजिटिव?

Bajaj Finance par moti lal oswal kyu hai positive?

शेयर मार्केट में पैसे कैसे कमाएं? Share Market Se Paise Kaise Kamay? For Beginners

Bajaj Finance News: मोतीलाल ओसवाल का कहना है कि हम बजाज फाइनेंस के प्रति अभी लॉन्ग टर्म के लिए पॉजिटिव है और जैसे ही बजाज फाइनेंस आरबीआई के जो भी गाइडलाइन है उनको संतुष्ट कर देगा अपने डॉक्यूमेंट के थ्रू तो जरूर फिर से बजाज फाइनेंस में अच्छा ग्रोथ देखने को मिलेगी ।हालांकि जो मोतीलाल ओसवाल है अभी भी उसे पर पॉजिटिव है और buy की रेटिंग दे रहे हैं उनका मानना है कि अभी स्टाफ में थोड़ी देर का करेक्शन है और सब कुछ सही होने के बाद इसमें फिर से शेयर में ग्रोथ देखने को मिलेगी।

निष्कर्ष (Conclusion)

हालांकि मोतीलाल ओसवाल का मानना बिल्कुल सही है बजाज फाइनेंस को जो नोटिस मिला है आरबीआई के थ्रू वह कोई खास इंपैक्ट नहीं देगा क्योंकि पहले से ही बजाज फाइनेंस अच्छे फंडामेंटल के साथ अच्छा परफॉर्म करता रहा है और इसका परफॉर्म करना आगे भी जारी रह सकता है लेकिन मेरी आपको सलाह है कि आप अपना पैसा लगाने से पहले जरूर इस कंपनी के बारे में अच्छे से जांच और पाताल कर ले उसके बाद ही अपना कीमती पैसा पर लगाए।

Short Post

मेरा नाम M R है और मैं एक शेयर मार्किट एनालिस्ट और ब्लॉगर हूँ. मुझे शेयर बाज़ार के बारे में जानकारी रखना और बताना अच्छा लगता है. मुझे लगभग 7 साल का अकाउंट्स का अनुभव है और लगभग 4 साल से शेयर बाज़ार में एक्टिव हूँ. मैं एक वेबसाइट में लगातार शेयर मार्किट की खबरें, टिप्स, ट्रेंड्स और विश्लेषण अपडेट करता हूँ. मेरा उद्देश्य है कि मैं शेयर मार्किट के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक और शिक्षित करूँ. मेरा ब्लॉग मेरा प्रयास है कि मैं शेयर मार्किट के बारे में अपने विचार, अनुभव और ज्ञान को आपके साथ साझा करूँ. आप मुझे अपने सुझाव, प्रश्न और टिप्पणियाँ भेज सकते हैं. मुझे आपसे सुनने का इंतजार रहेगा

Sharing Is Caring:

Leave a comment

दो गुना लिस्ट होगा ये आईपीओ, अभी है खरीदने का मौका मात्र 70 रुपए के माल्टीबैगर पेनी शेयर ने दिया 800% ताबड़तोड़ रिटर्न, इलेक्ट्रिक स्कूटी बनाती है कंपनी, निवेशक हुए मलाल इस डिफेंस स्टॉक में FIIs बढ़ा रहे अपनी शेयर होल्डिंग, क्या होने वाला है इसमें बढ़ा खेल? 6 महीने में पैसा डबल अब होंगे 10 शेयर से 100 शेयर, जल्दी उठाए फायदा रईसों के होटल वाली कंपनी, जूनिपर होटल्स ले कर आ रही आइपीओ, कितना बनेगा प्रॉफिट या होगा नुकसान?